Latest News

View On News

Featured

Politics

प्रतिक्रिया

Politics

Advertise Space

Health

News

News

Latest News

Wednesday, August 14, 2019

हमरा सब अहिबेर आजादीक तिहत्तरवां वर्ष गाँठ मना रहल छी। संसद भवन सँ लSक लुटियन जोन रँग विरँगक इजोत सँ नहा रहल अछि। लालकिलाक प्राचीर सेहो सजि धजिकS तैयार अछि आ संगहि गणमान्य अतिथि सभक आदर सत्कारक हेतु लालकिलाक मेदान सेहो तैयार अछि। अहि महापर्वक उप्लक्षमे ओतहुका लग लगीचक बाट घाट चौबटिया सेहो अनेकानेक तरहक रँग सँ अतिथि सत्कारमे सजल पड़ल अछि। शासन प्रशासन विधि व्यवस्था सब चाक चौबंद भS अतिथिक प्रतीक्षारतमे नजरि गड़ेने अछि।

ई साज सज्जा नाच गान सब कोनो नव नहि अछि।आजादी सँ लSक एखन धरि अहिना सब किछु होयत आबि रहल अछि जहिना देशक महापर्व मनेबाक आरंभ भेल छल। लालकिलाक प्राचीर सँ प्रधानमंत्री भाषण सेहो करताह जहिना आजादीक पश्चातसँ सत्तासीन प्रधानमंत्री सब करैत आबि रहलाह अछि। झंडा फहराएब , सलामी , जन गण मन गीत सब अहिना देख सकब जहिना पहिने सँ देखैत आबि रहल अछि। अहिबेर जे नव अछि से केवल आ केवल ई अछि जे तारीख पन्द्रह अगस्त 2019 अछि शेष सब जस केS तस।

बहत्तर साल पुरान आजाद भारत एखनहुँ मूलभूत सुविधासँ वंचित अछि। रोटी रोजगार शिक्षा सुरक्षा स्वास्थ्य समस्या एखनहुँ देशक सभसँ पैघ समस्यामे सँ एक मानल जाएत अछि। बेमार थाकल झमारल अस्पतालमे जेना कैंसर रोगीक रोग प्रतिरोधक क्षमता दिनानुदिन क्षय होयत रहैत अछि तहिना सम्प्रति देशक स्वास्थ्य अछि। फर्जी डॉक्टरक नवका नवका प्रयोगसँ रोगी अपन रोग सँग जीवाक नियति मानि लेने अछि। भूख गरीबी बेरोजगारी बेमारी आदि सनक रोगक इलाज केवल वाचन आ भाषण सँ करबाक प्रयास भS रहल अछि।

देशक अर्थव्यवस्था सेहो द्रुत गति सँग गोता लगबैत रसातल दिसि अग्रसर अछि। हमरा सँ नीक सभसँ गरीब देश मानल जाए बला भूटान अछि। ओतय सरकार देखाबटी आ कागजी बला फर्जी रिपोर्ट नहि जारी करैत अछि। जनहितमे सरकार ओतय फर्जीबाड़ा जीडीपी पर नहि जीएनएच मतलब (ग्रॉस नेशनल हैप्पीनेस) पर फोकस करैत अछि।

भूटानक प्रधानमंत्री लोतेय त्शेतेय केर एकटा साक्षात्कार अविश्वसनीय लागल। हुनक कहब छलनि जे, स्कूली शिक्षा सँ लSक सर्जन बनबा धरि शिक्षाक प्राप्ति हेतु हुनका जेबीसँ एकहु गोट टाका नहि खर्च भेल छनि। जँ एहन सरकारी व्यवस्था नहि रहितैक तँ साइत हम आई नहिए प्रधानमंत्री आ नहिए डॉक्टर बनल रहितहुँ। ओतय पढ़ाई आ दवाई सेवा सरकार द्वारा एकदम मुफ्त छैक। अहि पर भूटानक सभ जनताकेँ बरोबरि अधिकार अछि। जहिना अपना देशमे नीति आयोग अछि तहिना ओतय जीएनएच बनाओल गेल अछि। जेकर उद्देश्य जनताकेँ मूलभूत सुविधा सँग कोना खुश राखल जाए, ताहि दिसि नीति निर्धारण करैत अछि।

अर्थव्यवस्था पर नजरि घुमाबय लेल घुरि आउ आब अपन देशमे, एतय रोजगारमूलक क्षेत्रमे सभसँ अऔल क्षेत्र टेक्सटाइल्स ऑटोमोबाइल इंफ्रास्ट्रक्चर आदि इत्यादि रहल अछि मुदा ई सब सेक्टर वर्षो सँ भयंकर महामारीक चपेटमे अछि। ऑटोमोबाइल सेक्टर लेल सभसँ खराप समय आबि गेल अछि।लाखो लोकक रोजगार संकटमे पड़ि गेल अछि कारण व्यापार घाटा अछि। टेक्सटाइल्स इंडस्ट्री पहिने सँ हक्कन कानि रहल अछि आ इंफ्रास्ट्रक्चर सैक्टर तँ मटियामेट भेले अछि। जाहिसँ लाखो लोकक रोजगार सृजन भS सकैत छल ताहि पर कान बात नहि देब नीक व्यवस्था तँ किन्नहुँ नहि मानल जाएत?

बीतल बहत्तर वर्षमे देश लगभग सब क्षेत्रमे आगू बढ़ल अछि मुदा अहि बीच भ्रष्टाचार एना बढ़ल की ओ आब शिष्टाचार बनि गेल अछि। की नेता आ की जनता जेकरा जतय फबैत अछि ओतय चाभि देबाक अवसर नहि छोड़ैत अछि। देशमे भ्रष्टाचारी संस्कारी मानल जाएत अछि। बलात्कारी व्यभिचारी दुराचारी लोकतंत्रक पवित्र मंदिरक शोभा बढ़बैत देखल जाएत अछि। आभास भS रहल अछि जेना गोरा सभसँ आजादी तँ भेट गेल मुदा ओहने मानसिकता बला अपनहि देशकेँ सत्ताक दलालक बीचमे माँ भारती फँसि गेल छथि। मतलब ताड़क गाछ सँ खसल आ खजूर पर अटकल अछि।

बहत्तर सालमे माननीय लोकनि कोनो भाषाकेँ एखन धरि राष्ट्रभाषाक रूपमे संवैधानिक दर्जा नहि दिया सकलाह। 29 राज्यमे 20 राज्य हिंदी बाहुल्य रहितौ वोट बैंक डरे हिंदीकेँ राष्ट्रभाषा बनबै सँ डेराएत रहल अछि। एखनहुँ उच्च न्यायालय आ सर्वोच्च न्यायालयमे अदालती भाषा अंग्रेजीए अछि। हमर सभक राष्ट्रभाषा हिन्दी अछि से हमरा सब सनक बहुतों लोकक भ्रम छलनि मुदा साँच यएह थीक जे हिंदी हमर सभक राष्ट्रभाषा नहि अछि।

आजाद देशमे आजादीक असल आनंद तखने भेटत जखन अहिसभ सँ मुक्ति भेट जाएत। आजादी भेटबाक चाही पुरान रूढ़िवादी नियम कानून सँ, शिक्षामे व्यापार सँ, बेमार सरकारी अस्पताल सँ, समाजिक कुरीतिसँ,गरीबी सँ, बेरोजगारी सँ ,बलात्कारी, दुराचारी सँ असलमे आजादीक तखने महत्व मानल जाएत नहि तँ फर्जी लोकक भाषण पर सत्ताक रंग ताल पर गाँजा भांग दS नाचैत रहू जहिना आजादीक उपरांत नाचैत आबि रहल छी। जयहिंद जयभारत
हमरा दिसि सँ समस्त देशवासीकेँ तिहत्तरवां स्वतंत्रता दिवसक हार्दिक शुभकामना आ बधाई ।

Tuesday, August 13, 2019

विगत समयमे दू बेर अटल मिथिला सम्मान समारोहक भव्य आयोजन नई दिल्लीक पंच सितारा होटल ली मेरेडियनमे भS चुकल अछि। हिन्द पोस्ट मीडिया आ मैथिलीक युवा अभियानी प्रदीप कुमार झा द्वारा आयोजित ई कार्यक्रमक प्रतीक्षा दिल्ली एनसीआरक प्रवासी मैथिलकेँ बहुत पहिने सँ रहैत अछि, आ से अहिबेर आगामी सतरह अगस्त शनिदिन हेबा सुनिश्चित भेल अछि।

मिथिला आ मैथिलीक मादे कएल गेल अनुपम योगदान देनिहार व्यक्तित्वकेँ अटल मिथिला सम्मान देल जाएत अछि ओ चाहे  मिथिलाक रहनिहार हो वा कोनो न कोनो तरहेँ मिथिलामे योगदान देने होय। आ से अहिबेर सेहो एहन अनेकानेक मिथिला मैथिलीजिवी अभियानी सभकेँ अहि भव्य समारोहमे सम्मानित कएल जएतैनि।

सूत्रकेँ अनुसार कार्यक्रमक उद्घाटन भारत सरकारक प्रतिरक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा कएल जाएत संगहि सँग राज्यसभा सांसद प्रभात झा समेत कतेको मंत्री आ गणमान्य व्यक्ति सेहो उपस्थित रहताह।

अहि आयोजनमे गीत संगीत सँ मनोरंजन हेतु मैथिल पुत्र आ बॉलीवुडक स्टार पद्मभूषण सँ सम्मानित उदित नारायण आ बॉलीवुडक प्रख्यात गायिका अलका याग्निक सेहो सँग रहतीह। अहिबेर हिनका अटल मिथिला सम्मानसँ सेहो सम्मानित कएल जा रहल अछि। एकर अतिरिक्त मैथिली ठाकुर सेहो अपन गीत सँ उपस्थित जनसमूहक मनोरंजन करतीह।

अनेकानेक व्यक्ति सँग अहिबेर अटल मिथिला सम्मान सँ सम्मानित हेताह धीरेंद्र प्रेमर्षि। जी हाँ अपन जादुई आवाज सँ मिथिलाक जनमानस पर राज करय बला व्यक्तित्व, हेलो मिथिलाक प्रस्तोता धीरेंद्र प्रेमर्षि। मूल रूपसँ नेपालिय मिथिलाक बस्तीपुरक रहनिहार सहृदय मृदुभाषी संगहि एकटा निस्सन गीतकार प्रयोगधर्मी संगीतकार आ रेडिओकर्मी रूपमे अपन फराक पहिचान बना बहुत चर्चा बटोरलाह अछि।

मैथिली साहित्यमे सेहो हिनक दखल छनि। मैथिली गीत संग्रह नेपालिय गीत कथा कविता सभक रचना तँ कएने छथि संगहि संगीत केँ क्षेत्रमे कतेको चर्चित हिनक एलबम छनि जनिका ओ अपन संगीत सँ सजाओने छथि। गीत संगीत सीरियल आदिमे मिथिलाक व्यथाक नायक रहल धीरेंद्र प्रेमर्षि सम्प्रति काठमांडूमे रहैत मैथिली अभियानक बिगुल फूंकने छथि। आ बेर कुबेर मिथिलाक प्रवासक कोन कोन जा मैथिलीक संरक्षण आ संवर्धन हेतु स्वर भरैत रहैत छथि।

अटल मिथिला सम्मान सँ सम्मानित कएल जएबाक घोषणा पर धीरेंद्र भाइकेँ हार्दिक शुभकामना आ बधाई । एहन असाधारण हरफनमौला व्यक्तित्वकेँ सम्मानित कएलासँ सम्मान सेहो सम्मानित होयत अछि।

जयमिथिला || जयमैथिली || जयजय मिथिलाक्षर

Monday, August 12, 2019

साउन महीना हिन्दू धर्ममे सभसँ पवित्र महीना मानल जाएत अछि। लाल परिधानमे कावरियाक हरहर महादेव आ बोलबमक उद्घोषसँ सगर बाट घाट गुंजायमान होयत रहैत अछि। आ तेहनमे देवभूमिक यात्रा सोना पर सोहागा जकाँ बुझि पड़ल।

एस्केप टू दि लीजन, बॉन सर्वाइवर/मैन वर्सेज़ वाइल्ड, वर्स्ट केस सिनारियो, एस्केप फ्रॉम हेल, मिशन सर्वाइव आदि इत्यादि संगहि अनेकानेक लोकप्रिय कार्यक्रम केर सूत्रधार बेयर ग्रिल्स आई राति 9 बजे डिस्कवरी चैनल पर प्रधनमंत्री मोदी सँग उत्तराखंडक जंगलमे मैन वर्सेज़ वाइल्ड सीरीजमे देखल गेलाह। पहिल बेर देशक कोनो प्रधानमंत्रीकेँ जंगल पहाड़ समुंदर आ जानवर सभक बीच देखब कोनो रोमांच सँ कमतर नहि छल। खैर अहि तरहक ऐतिहासिक काजे लेल हमर प्रधानमंत्री जानल जाएत छथि।

मैन वर्सेस वाइल्ड असलमे विषम परिस्थितिमे कोन तरहेँ अपन अंतर्मनक डर पर विजयी प्राप्त कएल जा सकैए तकर एकटा औअल उदाहरण प्रस्तुत करैत अछि। अपन संकल्पित लक्ष्य धरि पहुँचबाक लेल विघ्न बाधासँ स्वयंकेँ बचबैत आत्मबलकेँ कोन तरहेँ मजगुति कएल जाए तकर अहिसँ नीक विकल्प भए नहि सकैत अछि।

ओना पछिला शुक्रदिन सँ हमहुँ कोनो सर्वाइवल सीरीज सँ कम रोमांचक नहि आभास कS रहल छी। हं हमरा सङ्गे बेयर ग्रिल्स नहि छलाह मुदा हरिद्वार ऋषिकेश आ नीलकंठ महादेवक दर्शन कोनो रोमांच सँ कमतर नहि आभास भेल।

रात्रि बस सेवासँ भोरभोर हम करीब 4 बजे हरिद्वारक बस स्टैंड पहुँचलहुँ। स्टैंड पर उतरलाक बाद सोझेसोझ चाहक दोकान पर जा एक एक कप चाहक आनंद लS जानकारी लेलहुँ जे हड़की पौड़ी पएरे यात्रा करबामे कतेक काल लागत। आस्थाक कारण सँ सभटा जानकारी जुटा पएरे विदा भS गेलहुँ।

एकटा समूहक पछोड़ धS हम विदा भS गेलहुँ। जे बाट ओ धेलक सएह हमहुँ पकरलहुँ आ हमरा पाछु सेहो किछु लोक। करीब आधा घण्टा बाद ओ समूह कोनो गेस्ट हाउसमे घुस' लागल फेर हम ठमकि गेलहुँ आ हनरा संगहि पाछु बला सेहो। फेर पुछिकS दोसर बाट धेलहुँ आ करीब आधा घण्टा बाद हड़की पौड़ी घाट पर पहुँचि गेलहुँ।    घाट पर लोकक जमघट आ गंगा मैयाक पवित्र धारा देखि बाटक सभटा ठेही उतरि गेल।

आ फेर बिना बेसी समय खराप कएने पवित्र गंगामे डूबकी लगा मनकेँ शांत कएलहुँ। आ से जखनहि एक डूबी लगेलहुँ की राइतक सभटा थकान एना फुर्र भेल जेना की कोनो यात्रा सँ नहि आएल होय। । प्राकृतिक अनुपम छवि देखि समस्त शरीर ऊर्जावान भS गेल। गंगा स्नान उपरांत घाट पर बनल देवी देवताक दर्शन कएलहुँ। आ विदा भेलहुँ मनसा देवीक दर्शन हेतु।

हमरा लेल हम एकदोसरक बेयर ग्रिल्स बनल छलहुँ । हमर जीवन संगिनी एकदम कदम ताल करैत चलैत रहलीह। कएक बेर कहलियैन्ह मनसा देवीक 840टा खरगर सीढ़ी चढ़बा उतरबा सँ नीक एकहि बेर उड़न खटोला पर बैसि जाउ। एक तँ झट द' दर्शन कS घुरि आएब संगहि समय आ थाक' सँ सेहो बचि जाएब। मुदा ओ कहलीह नहि अतेक दिनक बाद अएलहुँ तेँ डेगाडेगी पएरे चलबाक अछि आ फेर हमरा लग मुड़ी हिलेबाक अलावा कोनो आओर चारा नहि छल।

विदा भेलहुँ, बाट भरि ओ आगू आगू आ हम पसीना सँ त'र-बत'र भेल हुनकर पछोड़ धेने चलैत चलैत मंदिर परिसर धरि पहुँचलहुँ।  दर्शन उपरांत कनि काल रुकि प्रसाद ग्रहण कएलाक बाद फेर उतर'य लगलहुँ मुदा उतरबा काल जाए कालसँ कनि कम समय आ मेहनत लागल। मुदा नीचा उतरितहि मोन हरिया गेल। मनसा देवीक दर्शन नीक सँ भेल से संतोषजनक गप्प।

प्रफुल्लित मन सँ कनिया कहलखिन जे आब एतय सँ चण्डी देवी दर्शन हेतु चलबाक अछि। हम एकटा यात्री सँ पुछलियैन्ह जे कतेक दूर हेतैक ओ जबाब देलक जे बस दु गोट चौराहा सँ बाम दिसि भS जाएब आ आगा जाकS फेर पुछि लेब। हमरा भेल बेसी दूर नहि हेतैक कहलक जे सोझा बला पहाड़ पर माता चण्डी देवी विराजमान छथिन। मुदा चलैत चलैत हमरा जनैत लगभग तीन किलोमीटर सँ बेसी चलल हएब तखन चण्डी घाट धरि पहुँचलहूँ।

ओतय कनि सुस्ताकS फेर जल पीबि किछु लोकक सङ्गे चढ़ाई शुरू कएलहुँ। चढ़ाई कतेको स्थान पर हाथी मत्था जकाँ भीजल बाट थाल-कादो बला विषम चढ़ाई। मुदा कनियाक बढैत डेग संगहि सँग कखनो एक दोसरक हाथ धेने अंतिम लक्ष्य धरि बढैत रहलहुँ। हम दुनु प्राणी एक दोसरकेँ प्रेरित करैत लगभग एक घण्टा सँ बेसीए कालक बाद मंदिर परिसरमे पहुँचलहुँ।

ओतय जायते जेना पछिला सभटा दुख दर्द पड़ा गेल आ एकदम हल्लुक मनसँ मंदिरक मुख्य द्वार लेल बढलहुँ जे आओरो ऊपर जाकS छल। माता चण्डी देवीक दर्शन कS ओतहि प्रसाद ग्रहण कS नीचा उतरबाक तैयारी कएलहुँ। कतेको केर देखलहुँ जे संगहि चलि रहल छल से घुरैत कालमे सेहो चलिए रहल छल आ से देखि हमरा सुखद आश्चर्य सेहो भेल।

नीचा उतरितहि ऋषिकेष लेल ऑटो रिक्सा लेलहुँ। ओ लक्ष्मण झूला राम झुलाक दर्शन करेलक आ फेर ओतय सँ आगू टैक्सी लS अंतिम लक्ष्य हमर बाबा नीलकंठ महादेवक दर्शन करब छल ओतय विदा भेलहुँ।

नीलकंठमे यात्रीक जमाबड़ा बेसी रहैक तेँ टैक्सीकेँ डेढ़ किलोमीटर करीब पहिने रोकि देल गेलैक आ फेर पदयात्रा शुरू करय पड़ल।मुदा मुख्य द्वार धरि पहुँचयमे करीब आधा घण्टा सँ बेसीए काल लागि गेल। दर्शनार्थी सभक कतार नमहर रहबाक कारण सँ ओतय दर्शन करबामे समय बेसी लागि गेल। लेकिन दर्शन आ पूजा भेल फेर प्रसाद लSक घुरैत काल वर्षा होमय लागल आ से कनि शरीर आ मन दुनुकेँ हरिया देलक।

ओतय सँ हम टैक्सी लS हरिद्वार अएलहुँ। सांझुका पहर फेर सँ स्नान कS संध्या आरती आ पूजा पाठ कS गंगा जल भरि रात्रि बस लेबाक लेल स्टैंड धरि अएलहुँ। बस सेहो भेटल आ ख़ालीए खाली सन। नीक सँ राइत भरि सूतिकS यात्रा कS भोरुका पहर 4 बजेसँ पहिने दिल्ली उतारि देलक आ ताहि तरहे समापन भेल हमर साउन महीनाक देवभूमिक यात्रा।
जयमिथिला || जयमैथिली || जयजय मिथिलाक्षर

News

Ads Place 970 X 90

Business

MCD

Center